टमाटर मिर्च बैगन करेला की खेती में लाखो की बचत होंगी इस एक टूल से | Cultivator Tool Use in Hindi

Join whatsapp group Join Now
Join Telegram group Join Now

टमाटर, मिर्च, बैगन ,करेला, खीरा की सभी फसलो की बुवाई आपने कर दी होंगी या फिर करने वाले है तो इन सभी की फसलो में निराई गुड़ाई का कुल खर्च 20 से 25 हजार के बिच में आता है ये खर्च को पूरी तरह से आप बचा सकते है सिर्फ इस टूल कल्टीवेडर की सहायता से आप अपनी फसलो में बुवाई करते है तो अच्छा होंगा ये टूल बुवाई के लीये ठीक माना जाता है साथ ही साथ इसमें खर्च भी बहुत कम आता है |

कल्टीवेडर से आप अपने खेतो में किस तरह से कोई भी खेती के लिए आप बुवाई कर सकते है वो कैसे तो आपको सभी के बारे में बताने वाले है |

कल्टीवेडर का उपयोग :

कल्टीवेडर का उपयोग करने के लिए आपको क्या करना है की आप जीन भी फसलो में कल्टीवेडर का यूज करे है तो लाईन से लाईन की दुरी 1 फिट या पौधो से पौधो की दुरी 1 फिट या इससे ज्यादा रहती है तो उन फसलो में आप कल्टीवेडर का उपयोग कर सकते है , बैगन की फसल के लिए आपको खेत में इसके बिच कि लाईन में आपको कल्टीवेडर को चलाना है ज्यादा मेहनत नही लगती है और ये खरपतवार को निकाल देता है |

टमाटर मिर्च बैगन करेला की खेती में लाखो की बचत होंगी इस एक टूल से | Cultivator Tool Use in Hindi

फूलगोभी की फसल में इस कल्टीवेडर का यूज बड़े ही आराम से करना होता है इस फसल में गोभी के पौधे बिच में ना आये इसका बहुत अच्छे से ध्यान रखना है इसकी पहली निराई गुड़ाई कल्टीवेडर से करे दूसरी निराई गुड़ाई मजदूरो से करे |

इसे भी पड़े : अप्रैल में बोई जाने वाली सब्जियां कौनसी है

कल्टीवेडर खरपतवार को कैसे निकलता है :

कल्टीवेडर खरपतवार को इस तरह निकलता है कल्टीवेडर में टिन बने हुए रहते है जिसे स्टैनलेस स्टील कहा जाता है ये फसल के अन्दर जाकर पानी से गुड़ाई करते है तो गहराई से एरिगेसन हो जाता है बहुत ही आसानी से खरपतवार को निकाल सकते है कल्टीवेडर में लगे 3 टिन को इस तरह डिजाईन किया जाता है जिसमे जगह नही बचती है

कल्टीवेडर कि रकम :

3 साल पहले इसका रेट कुछ हमे 1200 रुपय का आता था , इसमें 3 प्रकार के हेंडल आते है 90 cm , 120 cm और 150 cm जिसका पूरा कंफोम रेट 2400 रुपय का था ये तो 3 साल पहले कि बात थी अब इसके रेट में 200 ,400 ऊपर निचे हुआ होंगा |

इसे भी पड़े : मई में बोई जाने वाली सब्जियां कौनसी है

कल्टीवेडर का उपयोग किन किन फसलो में कर सकते है इसका उपयोग गेंदा ,लोकी ,गिल्खी और तो और हमारी जितनी भी बागवानी वाली फसले है उसमे इस कल्टीवेडर का यूज कर सकते है

प्याज की निराई गुड़ाई हमने लेवर से करी थी तो इसका बजट 5000 तक आया था प्याज की बुवाई हमने कैरिया बनाके किया था जिसमे रो से रो की दुरी 4 इंच रखी थी पौधे से पौधे की दुरी भी 4 इंच ली थी इस वजह से कल्टीवेडर का यूज करना सही नही है लेकिन अगर आप बैड बनाके इसकी बुवाई करते है और फिर आप कल्टीवेडर से इसकी निराई गुड़ाई कर सकते है |

लहसुन की भी बुवाई कैरिया बनाके करेगे तो इसमें भी आप कल्टीवेडर का यूज नही कर सकते है आपको इसमें भी बैड बनाके इसकी बुवाई करे उसके बाद कल्टीवेडर की सहायता से आप इसकी निराई गुड़ाई कर सकते है |

अब हमे ये तो पता ही है की कल्टीवेडर से निराई गुड़ाई करने में हमे कितना समय लगेगा भिड़ी ,टमाटर ,मिर्च ,सिमलामिर्च इसमें आपको एक एकड़ में निराई गुड़ाई करने में 5 से 6 घंटे लगेगे वही फूलगोभी ,पत्तागोभी की निराई गुड़ाई करने में 10 से 12 घंटे लगेगे एक एकड़ में इसकी निराई गुड़ाई कर सकते है

बेल्वर्गी फसलो की बात करे तो उसमे निराई गुड़ाई के लिए 8 घंटे का समय लगेगा जिन फसलो में दो लाईन की दुरी ज्यादा है वहा पर कम समय लगेगा और जहा पर दो लाईन के बिच समय ज्यादा लगेगा |

इसे भी पड़े :

Join whatsapp group Join Now
Join Telegram group Join Now

Leave a Comment